दक्षिणी असम के इस टीचर की एफआईआर उन्हीं के छात्रों ने करवा दी

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर। असम के कछार जिले में एक कॉलेज के गेस्ट लेक्चरर को गिरफ्तार किया गया है। इनकी गिरफ़्तारी का वारंट इनके ही छात्रों ने मिलकर निकलवाया है।

दरअसल शुक्रवार 28 फरवरी की दोपहर कई छात्र गए और कॉलेज के प्रिंसपल को शिकायती लेटर दिया। एक छात्र ने कहा, ‘एक टीचर हमारे धर्म के ख़िलाफ़ कैसे बोल सकता है?’ पीएम मोदी के बारे में छात्र ने कहा, ‘वो दो बार के चुने हुए पीएम हैं।’

गिरफ्तार होने वाले टीचर का नाम सौरदीप सेनगुप्ता है। जो असम के गुरचरन कॉलेज में फिजिक्स के गेस्ट लेक्चरर हैं। इन्होंने पीएम मोदी और हिंदू धर्म पर कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

पुलिस ने शनिवार को कहा कि असम के सिलचर के एक कॉलेज में गेस्ट लेक्चर को दिल्ली में हुई हिंसा के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और फेसबुक पर भाजपा के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

पीएम मोदी और हिंदू धर्म पर कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर। टीचर के ख़िलाफ़ शिकायत कॉलेज के छात्रों ने ही कराई थी। साथ ही छात्रों का आरोप है कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में हुए दंगों को लेकर टीचर ने हिंदू धर्म पर भी टिप्पणी की। वहीं टीचर के परिवार का आरोप है कि छात्रों ने टीचर के घर का घेराव किया और ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए।

उनकी गिरफ्तारी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा जिला मुख्यालय सिलचर में एक शिकायत के आधार पर की गई है, हालांकि उन्होंने “अपमानजनक” पोस्ट हटा दिए थे और “सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील मुद्दे के बारे में कुछ गैर जिम्मेदाराना टिप्पणियों” के लिए माफी मांगी थी।

उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में कथित तौर पर एक विशेष समुदाय को भी निशाना बनाया, जिसे बाद में हटा दिया था। उन्होंने कहा कि उन्होंने बाद में टिप्पणियों के लिए सोशल मीडिया वेबसाइट पर माफीनामा पोस्ट किया।

उन्होंने अपने माफीनामा पोस्ट में लिखा था, “अगर मैंने किसी भी धार्मिक भावना को आहत किया हो तो मैं माफी मांगता हूं। मैंने एक संवेदनशील मुद्दे पर ग़ैर-जिम्मेदाराना बयान दिया। ये ग़लत फैसला था। मेरा उद्देश्य किसी धर्म का अपमान नहीं था।”

सेनगुप्ता को आज स्थानीय अदालत में पेश किया गया है। उनके परिवार वालों का आरोप है कि 40 छात्रों ने उनके घर का घेराव किया और माफी की मांग करते हुए जय श्रीराम के नारे लगाए। परिवार वालों का कहना है कि ये डरावना था। सेनगुप्ता के भतीजे स्वागत होम चौधुरी ने कहा, डर की वजह से हमने पुलिस प्रोटेक्शन लेने का फैसला किया। हम सिलचर के सदर पुलिस स्टेशन गए। लेकिन हमारी सुरक्षा करने की जगह पुलिस ने उन्हें (सेनगुप्ता) को गिरफ्तार कर लिया।

admin