केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने इस बार अधिकारियों को बेल्ट से पीटने की धमकी दे डाली

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

अपने विवादित बयानों के चलते अक्सर चर्चा में रहने वालीं केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह एक बार फिर विवादों में आ गई हैं। इस बार तो उन्होंने बंद कमरे में बेल्ट से पीटने की धमकी तक दे डाली है।

दरअसल यह मामला राज्य के बलरामपुर जिले के क्वारंटीन सेंटर का है, जहां उन्होंने निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को धमकाया और यहां तक कि बेल्ट से पीटने की धमकी दे डाली। वहीं, रेणुका सिंह का कहना है कि उन्होंने ऐसा सेंटर में एक लड़के के साथ मारपीट होने के बाद किया। 

केंद्रीय राज्य मंत्री के इस वीडियो की हो रही निंदा

उनके इस बयान का एक वीडियो भी सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वह अपने इस वीडियो को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गई है।

युवक के परिजन ने आरोप लगाया कि क्वारंटाइन सेंटर की कमियों को लेकर एक वीडियो बनाया था। वीडियो वायरल होने के बाद साथ जनपद के सीईओ और तहसीलदार ने उनके बेटे से मारपीट की। साथ ही उसका मोबाइल भी छीन लिया। जिसकी शिकायत के बाद कोई सुनवाई नहीं हुई।

बलरामपुर के क्वारंटाइन सेंटर में दिल्ली से लौटे युवक के साथ सीईओ और तहसीलदार द्वारा मारपीट का आरोप लगने के बाद वे दौरा करने पहुंची थी। रेणुका सिंह ने क्वारंटीन सेंटर के निरीक्षण के दौरान अपने आपा खो दिया और अधिकरियों को डांटते हुए कहा, “भगवाधारी भाजपा के कार्यकर्ताओं को कमजोर मत समझना। जनपद में जो भेदभाव कर रहे हैं,उसे भूल जाइए,अंधेरी कोठरी में ले जाकर मैं बेल्ट खोलकर ठोकना जानती हूं।”

उन्होंने आगे कहा कि दिलीप गुप्ता नाम के युवक ने बालक छात्रावास केंद्र की कमियों पर वीडियो बनाया, जिसके बाद ब्लॉक स्तर के 2 अधिकारियों ने उसके साथ मारपीट की, मैं दिलीप गुप्ता को न्याय दिलाकर रहूंगी। मदद करने की बजाय लोगों को धमका रहे हैं, हम ये बर्दाश्त नहीं करेंगे।

प्रदेश सरकार को भूखी नंगी सरकार का दिया दर्जा

अधिकारियों को पीटने की धमकी देने के बाद वह विपक्ष के निशाने पर आ गईं हैं। बताया जा रहा है कि मंत्री जी का गुस्सा यहीं नहीं रुका। उन्होंने प्रदेश सरकार को भूखी नंगी सरकार का दर्जा देते हुए जिले के एसपी कलेक्टर और आईजी पर भी मामले को छुपाने का आरोप लगाया।

युवक के शरीर पर चोट देखकर सांसद रेणुका सिंह भडक़ गईं। उन्होंने तहसीलदार और सीईओ को कड़ी फटकार लगाई। इसके बाद युवक की पिटाई के मामले में सांसद रेणुका सिंह ने बलरामपुर कलेक्टर व एसपी को जांच करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई करें। इसके बाद युवक को बलरामपुर क्वारंटाइन सेंटर से निकालकर ग्राम डौरा के क्वारंटाइन सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया है।

admin