कोरोना से प्रभावित इंग्लैंड की महिला का यह वीडियो कई लापरवाह लोगों के भ्रम तोड़ेगा

विभव देव शुक्ला

पूरी दुनिया पर कोरोना का भयानक असर हुआ है। दुनिया के तमाम देश ऐसे हैं जहाँ इस बीमारी के चलते अब तक हज़ारों मौतें हो चुकी हैं। सूची में अधिकतर ऐसे देश शामिल हैं जो विकसित देशों की श्रेणी में आते हैं और वह तकनीक के लिहाज़ से बहुत आगे हैं।
ऐसा ही एक देश है इंग्लैंड जहाँ कोरोना वायरस से अभी तक 3 हज़ार से ज़्यादा मौतें हो चुकी हैं और लगभग 144 मौतें भी हो चुकी हैं। सवाल यह उठता है कि इंग्लैंड का ही ज़िक्र क्यों? वहाँ ऐसा क्या हुआ जिसकी वजह से उसका ज़िक्र किया जा रहा है?

लापरवाह युवाओं के लिए संदेश
दरअसल सोशल मीडिया पर इंग्लैंड की एक कोरोना वायरस प्रभावित महिला का वीडियो खूब चर्चा में है। चूंकि पिछले कुछ समय से यह हमारे समाज का स्वभाव बन गया है कि हर मुद्दे पर सबसे ज़्यादा और सबसे तेज़ प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर देखने के लिए मिलती है। लिहाज़ा कोरोना वायरस से प्रभावित महिला का वीडियो भी चर्चा बटोर रहा है।
इसके अलावा वीडियो में उस महिला ने ऐसी बात कही है जो एक बड़ी आबादी के लिए जानना ज़रूरी है। इतना ही नहीं महिला ने कोरोना वायरस के बारे में ऐसी बात कही है जिससे एक बड़ी युवा आबादी का भ्रम टूट जाएगा। सबसे पहले वीडियो में साफ तौर पर नज़र आ रहा है कि वह एक अस्पताल में भर्ती है और बुरी हालत में है।

साँस लेना तक मुश्किल है
लंदन के हेलिंगटन हॉस्पिटल में 39 साल की तारा जेन कोरोना वायरस से जंग लड़ रही हैं। उनका कहना है, ऐसा लग रहा है कि फेफड़े में शीशे चुभ रहे हैं। सांस लेना जंग लड़ने जैसा लग रहा है। यह बेहद डरा देने वाला अनुभव हैं, मैं दोबारा इसका सामना नहीं करना चाहती।
तारा वीडियो की शुरुआत में कहती है ‘अगर कोई ऐसा सोच रहा है कि वह ख़तरा ले सकता है तो आप मुझे देख सकते हैं। मैं फिलहाल आईसीयू में हूँ और बिना इसके (पाइप) साँस भी नहीं ले सकती हूँ। मैं फिलहाल 10 गुना बेहतर हालत में हूँ, इससे पहले मेरी हालत और खराब थी।

6 लीटर ऑक्सीज़न की ज़रूरत
कोरोना से लड़ रहीं तारा ने आईसीयू में ही एक वीडियो बनाया। इसे वॉट्सअप के जरिए अपने दोस्तों को भेजा और सावधानी बरतने की गुजारिश की। तारा के मुताबिक, आईसीयू में मेरे शरीर में कैथेटर लगाई गई हैं, जिससे मैं सांस ले रही हूं। पहले मुझे एक दिन में करीब 6 लीटर ऑक्सीजन की जरूरत थी अब हालात सुधर रहे हैं और वर्तमान में एक लीटर ऑक्सीजन ले रही हूं।

लोगों को सिगरेट छोड़ने की गुजारिश
तारा के मुताबिक, अभी के हालात पिछली स्थिति के मुकाबले 10 गुना बेहतर हैं। अभी और कितने दिन लगेंगे ये सोचना छोड़ना दिया है। हर वो इंसान जो सिगरेट पीता है उसे अभी इसे छोड़ देना चाहिए, मेरी गुजारिश है आप लोग ऐसी स्थिति न बनने दें। मेरा शरीर इस समस्या से लड़ रहा है, आप लोग भी सावधानी बरतें।
मुझे नहीं पता कि मैं कितने दिन तक ज़िंदा रह पाऊँगी। इस तरह के हालातों में आप लोग किसी भी तरह का कोई ख़तरा न लें, यह बहुत ही ख़तरनाक वायरस है। अगर आप सावधानी नहीं बरतेंगे तो आपकी हालत भी ऐसी ही हो जाएगी।
आप सभी के सकारात्मक संदेशों के लिए बहुत बहुत शुक्रिया, आप सभी घर पर रहिए और पूरी सावधानी से काम करिए। मुझे नहीं पता कब तक लेकिन मैं इससे अंत तक लड़ूँगी। एक बार फिर कहना चाहूंगी आप लोग किसी भी तरह का कोई ख़तरा न लें, इसमें ही सबकी भलाई है।

देश और दुनिया के हालात
कुल मिला कर कोरोना वायरस से प्रभावित महिला का यह वीडियो युवाओं के लिए था। युवाओं को ऐसे किसी भ्रम में नहीं रहना चाहिए कि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी है इसलिए उन पर कोई असर नहीं होगा। वहीं इंग्लैंड की बात करें तो वहाँ अब तक कोरोना वायरस के 3269 मामले सामने आए हैं। इसके अलावा इस वायरस की वजह से 144 मौतें हो चुकी हैं। हमारे देश में अब तक 258 मामले सामने आ चुके हैं और 4 लोगों की मौत हो चुकी है।

admin