कोरोना की जांच करने गई तीन महिला कर्मियों को पत्थर मारे, पीटा, मोबाइल तोड़ा, गिरफ्तार

नगर संवाददाता | इंदौर

पड़ोसियों से चल रहे विवाद में पहले पड़ोसियों पर चाकू से किया हमला

टाटपट्टी बाखल और चंदननगर के बाद 15 दिन में तीसरी बार कोरोना के खिलाफ जंग में डटे स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले की दुखद घटना सामने आई। शनिवार की दोपहर विनोबानगर में एक बदमाश ने तीन महिला स्वास्थ्यकर्मियों पर पत्थरों से हमला बोल दिया जो सर्वे के लिए गईं थी। एक महिलाकर्मी को धक्का दिया। मोबाइल छीनकर फोड़ दिया। पड़ोसी बीच में बोले तो बदमाश ने उन पर भी चाकू-पत्थर से हमला कर दिया। इसमें तीन-चार लोग घायल हो गए। स्वास्थ्यकर्मी भाग कर थाने पहुंचे और उन्होंने शिकायत दर्ज कराने के साथ ही सुरक्षा की मांग की।

बीते दिनों विभिन्न दल बनाकर कलेक्टर मनीष सिंह ने घर-घर जाकर लोगों के स्वास्थ्य सर्वे की जिम्मेदारी दी थी। तीनों स्वास्थ्यकर्मी इसी आदेश से विनोबानगर में सर्वे करने पहुंचे थे। सर्वे अच्छे से चल ही रहा था कि इसी बीच आरोपी उनकी और दौड़ा। एक महिला कर्मी के साथ मारपीट की। डाटा इंट्री के लिए इस्तेमाल किया जा रहा उनका मोबाइल छीनकर तोड़ दिया। अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को पत्थर भी मारे। सर्वे टीम में शामिल आशा कार्यकर्ता रोहिणी ने बताया जब हम सर्वे करने पहुंचे थे तब वहां कुछ पारिवारिक विवाद चल रहा था। यह देख हम दूर खड़े हो गए।

इसी दौरान शराब में धुत एक व्यक्ति हमारी ओर दौड़ा। हमारी टीचर मैडम पर हमला कर दिया। उसने हम पर भी हमला करने की कोशिश की। स्वास्थ्यकर्मी भाग कर तत्काल पलासिया थाने पहुंचे। स्वास्थ्य विभाग के सर्वे इन्चार्ज डॉ. प्रवीण चौरे भी पहुंचे। उन्होंने पुलिस से दल की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की।

अवैध शराब बेचता है आरोपी

पड़ोसियों ने हमलावर की शिनाख्त पारस बोरासी के रूप में की। बताया कि वह अवैध शराब का धंधा करता है। पारस की पत्थरबाजी में घायल एक पड़ोसी कमल यादव ने बताया आरोपी मेरे घर के बाहर शराब बेचता है। दो दिन पहले जब मैंने घर के सामने लाइट जताई तो उसने जान से मारने की धमकी देते हुए लाइट बंद करने को कहा था। मैंने भी धंधा बंद कर दे, कहते हुए लाइट जला दी। इससे नाराज पारस ने शनिवार सुबह जानलेवा हमला किया। चाकू मरे हाथ पर लगा जबकि अशोक के सिर पर चोट आई। किचन में तोड़फोड़ की। महिलाओं और बच्चों को भी पीटा।

टीम पर हमला इसलिए कार्रवाई तो होगी

विनोबानगर में एक पॉजिटिव मिला था। मेरे आदेश पर सर्वे हो रहा है। सभी दल की सुरक्षा मेरी जिम्मेदारी है। भले आरोपी ने अज्ञानता वश ही उसने मोबाइल गिराया है लेकिन उस पर कार्यवाही की जाएगी और गिरफ्तारी होगी।
-मनीष सिंह, कलेक्टर

शिकायत की शंका पर पारस ने हमला किया

पारस लॉकडाउन के दौरान ऑटो से शराब बेचने का काम कर रहा था। उस पर गांजा बेचने का भी आरोप है। शुक्रवार रात से ही इनका आपसी झगड़ा चल रहा था। शनिवार को जब हमारा दल पहुंचा और मोबाइल पर इंट्री कर रहा था तो पारस को लगा कि वे उसकी किसी से शिकायत कर रही हैं। उसने उन पर चाकू से हमला कर दिया। इस दौरान महिलाकर्मी हट गईं। उसने मोबाइल छीनकर जमीन पर पटक दिया। स्वास्थ्यकर्मियों के साथ मारपीट नहीं की। सर्वे टीम के बयान दर्ज हो चुके हैं। आरोपी पर सख्त कार्रवाई होगी।
जयवीर सिंह, एएसपी

आरोपी ने महिलाकर्मी का मोबाइल लेकर तोड़ दिया लेकिन महिला पर कोई हमला नहीं किया। पूरी टीम पर कोई हमला नहीं हुआ। आरोपी पर धारा 353 की कार्रवाई की जा रही है।
हरिनारायण चारी मिश्र, डीआईजी

admin