अरबिंदो में भर्ती तीन महीने की बच्ची कइयों को दे रही हौसला

इंदौर

कोरोना वायरस को हराने के लिए केंद्र सरकार ने पूरी ताकत लगा दी है। इसीलिए देश में संक्रमण की रफ्तार अभी धीमी है। हालांकि जानकारों का कहना है कि भारत कोरोना के स्टेज 3 की तरफ बढ़ रहा है।

बहरहाल, इसमें कोई दो राय नहीं कि कोविड-19 के मरीजों में बड़ों से लेकर बच्चे तक सभी शामिल हैं। इस बीच, इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती तीन महीने की एक बच्ची ने सबका ध्यान आकर्षित किया है। अरबिंदो अस्पताल के पृथक वॉर्ड में पिछले आठ दिनों से भर्ती बच्ची कोविड-19 का बहादुरी से मुकाबला कर रही है और संक्रमण मुक्त होने की दिशा में तेजी से बढ़ रही है। डॉक्टरों ने जल्द ही इसके स्वस्थ होने और अस्पताल से छुट्टी मिलने की उम्मीद जताई है।

अरबिंदो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (सैम्स) में चेस्ट रोग विभाग के प्रमुख डॉ. रवि डोसी ने रविवार को बताया कि कोविड-19 के मरीजों के लिए बनाए गए पृथक वॉर्ड में भर्ती यह बच्ची हमारे अस्पताल में सबसे कम उम्र की मरीज है। उन्होंने कहा कि बच्ची अपने परिवार के अन्य सदस्यों के संपर्क में आने की वजह से कोविड-19 से संक्रमित हुई। इसका 12 साल का भाई भी कोरोना वायरस से संक्रमित है। लेकिन हैरत की बात है कि बच्ची की 28 वर्षीय मां जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं पाई गई।

डॉ. डोसी का कहना है, ‘बच्ची की सेहत ठीक है और उसमें लगातार सुधार हो रहा है। हमें पूरी उम्मीद है कि वह जल्द ही कोविड-19 के संक्रमण से मुक्त होकर अपनी मां के साथ घर चली जाएगी।’ वहीं सैम्स के शिशु रोग विभाग की प्रमुख डॉ. स्वाति मुल्ये ने कहा, “बच्ची को चार अप्रैल को अस्पताल में भर्ती किया गया था। इलाज के साथ ही हम इस नन्ही मरीज के पोषण का भी ख्याल रख रहे हैं। दवाइयों के असर के कारण वह इस बीमारी से तेजी से उबर रही है।” मुल्ये ने बताया कि मेडिकल प्रोटोकॉल के तहत कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर बच्ची की दो और जांच की जाएगी। अगर वह लगातार दोनों जांचों में इस महामारी से संक्रमित नहीं मिलती है, तो उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

मां बोली- दुआ कीजिये, बच्ची को लेकर घर लौटें

बच्ची की मां ने बताया कि बेटी के साथ उनका 12 साल का बेटा भी सैम्स के कोविड-19 वॉर्ड में भर्ती है। उन्होंने बताया, ‘हमारे परिवार के कुछ और सदस्य भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और मेरे जेठ की आठ दिन पहले मौत हो चुकी है। 28 वर्षीय महिला ने भावुक लहजे में कहा, ‘दुआ कीजिये कि मेरे परिवार के लोगों सहित कोविड-19 के सभी मरीजों को इस महामारी से जल्द मुक्ति मिले और वे स्वस्थ होकर घर लौटें।’ बता दें कि इंदौर, देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में शामिल है। शहर में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा रविवार को 300 पार कर गया। जबकि 32 लोगों की मौत हो चुकी है।

admin