अमेरिका में सबसे ज्यादा संक्रमण पर बोले ट्रंप- ये सम्मान की बात

वॉशिंगटन

अजीबोगरीब बयान

पूरी दुनिया में अमेरिका में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आए हैं। इस पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अजीबोगरीब बयान दिया है। कोरोना से पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा अमेरिका के प्रभावित होने पर ट्रंप का कहना है कि ये सम्मान की बात है।

उन्होंने कहा है कि ये सम्मान की बात है कि अमेरिका में कोरोना वायरस के संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक व्हाइट हाउस में उन्होंने कहा कि मैं इसे कुछ अलग तरीके से देखता हूं। मैं इसे अच्छा मानता हूं क्योंकि इसका मतलब है कि हमने ज्यादा लोगों के टेस्ट किए हैं। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़े के मुताबिक अमेरिका में वायरस संक्रमण के 15 लाख मामले सामने आए हैं। कोरोना के चलते अमेरिका में 92 हजार लोगों की मौतें हुई हैं। संक्रमण के मामले में दूसरा नंबर रूस का है। यहां संक्रमण के 3 लाख मामले सामने आए हैं। सोमवार को राष्ट्रपति ट्रंप महामारी फैलने के बाद पहली बार कैबिनेट की मीटिंग ले रहे थे। इस दौरान उन्होंने रिपोर्टर्स से कहा कि आप लोग कहते रहते हैं कि अमेरिका में वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं। हम लोग इस मामले में टॉप पर हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमने किसी भी देश की तुलना में ज्यादा टेस्ट किए हैं। इसके बाद ट्रंप ने कहा है कि इसलिए जब हम ज्यादा मामलों की बात करते हैं तो मैं इसे बुरा नहीं मानता. मैं इसे एक सम्मान के तौर पर लेता हूं। इसमें अच्छी बात ये है कि इसका मतलब है कि हमारी टेस्टिंग ज्यादा बेहतर है। इसलिए मैं कहता हूं कि ये सम्मान की बात है। ये निश्चित ही सम्मान की बात है।

डेमोक्रेटिक कमेटी ने की ट्रंप के बयान की आलोचना:

ट्रंप ने कहा है कि ये ज्यादा टेस्टिंग की बदौलत हुआ है। अमेरिका की फेडरल एजेंसी सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल के मुताबिक मंगलवार तक अमेरिका में 1 करोड़ 26 लाख लोगों के टेस्ट हो चुके हैं। ट्रंप से सवाल पूछा गया था कि क्या अमेरिका, लैटिन अमेरिका और ब्राजील की यात्रा पर प्रतिबंध लगाने जा रहा है। क्योंकि इन देशों में कोरोना का संक्रमण बुरी तरह से हुआ है।

admin