ब्यूटीशियन की नौकरी के बहाने एजेंट ने इस लड़की को सऊदी भेज कर धकेल दिया तस्करी में

विभव देव शुक्ला

हमारे देश के तमाम लोग अच्छे अवसरों की तलाश में देश से बाहर जाते हैं। ऐसा करने वाली एक बड़ी आबादी को अच्छे नतीजे भी हासिल होते हैं, उनकी ज़िन्दगी में काफी बदलाव होते हैं। होने वाले ज़्यादातर बदलाव अच्छे होते हैं लेकिन हर सिक्के के दो पहलू हमेशा होते हैं। एक तरफ तमाम लोगों को अच्छे नतीजे हासिल होते हैं तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोगों को अच्छे नतीजे हासिल नहीं होते हैं। इस तरह की ही एक ख़बर आ रही है तेलंगाना से जिसमें एक मुस्लिम महिला ने अपनी बेटी को लेकर शिकायत दर्ज कराई है।

नौकरी के बहाने तस्करी में धकेला
तेलंगाना की रहने वाली साइदा सुल्ताना का दावा है कि उनकी बेटी मानव तस्करों के चंगुल में फंस चुकी है। उनके मुताबिक दो एजेन्ट उनकी बेटी को दमन में नौकरी दिलाने का झांसा देकर सऊदी अरब लेकर चले गए। फिलहाल उनका कहना है कि वह दोनों एजेंट तस्कर थे और उनकी बेटी के साथ धोखा करके उसे तस्करी में झोंक दिया। साथ ही साथ उन्होंने भारत सरकार और सऊदी अरब के भारतीय दूतावास से गुज़ारिश की है कि उनकी बेटी को वापस लाने के लिए हर संभव मदद की जाए।

उम्र बढ़ाने के लिए दस्तावेज़ों में बदलाव
समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने मामले से जुड़ी कई अहम बातें बताईं। उनका कहना था कि उनकी बेटी ने साल 2017 में देश छोड़ा था। दमन में ब्यूटीशियन की नौकरी का वादा करके उसे सऊदी अरब के रियाध में नौकर बना दिया गया। उसे रुपए, खाना और यहाँ तक कि कभी-कभी पानी तक नहीं दिया जाता है। कुल मिला कर उसके साथ हर तरह की ज़्यादती की जा रही है।
उनके मुताबिक इस मामले में एक और परेशानी वाली बात यह है एजेन्टों ने उसकी उम्र भी बढ़ा कर बताई है। जिससे वह आसानी से उनकी बेटी की तस्करी कर पाएँ, असल में वह 16 साल की है जबकि हर जगह उसे 28 का बताया जा रहा है। ऐसा करने के लिए उसके दस्तावेज़ों में जालसाज़ी भी की है। लिहाज़ा उनकी सरकार से महज़ यही गुज़ारिश है कि इस सरकार इस मामले को गम्भीरता से लेकर उनकी बेटी को वापस ले आए।

admin