उप्र सरकार उत्तराखण्ड में हुई आपदा के हर पीड़ित परिवार के साथ खड़ी : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि उत्तराखण्ड के चमोली में हुई त्रासदी में प्रदेश सरकार हर पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। प्रदेश के जो लोग इस हादसे के बाद लापता हैं, उनकी खोज-बचाव व राहत आदि के लिए सरकार लगातार उत्तराखण्ड सरकार से समन्वय बनाए हुए है।
मंत्री सुरेश राणा के नेतृत्व में बनाई गई टीम, अवनीश अवस्थी को भी दी जिम्मेदारी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तराखण्ड सरकार से समन्यवय बेहतर तरीके से स्थापित करने के लिए प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश राणा के नेतृत्व में धर्म सिंह सैनी और विजय कश्यप की टीम बनाई है, जो लगातार इस काम में जुटी है। इसके साथ ही उत्तराखण्ड शासन और प्रशासन से समन्वय के लिए अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी के नेतृत्व में भी शासन के वरिष्ठ अफसरों की टीम बनाई गई है।
चौबीस घंटे काम कर रहा कंट्रोल रूम, हरिद्वार भी किया गया स्थापित
मुख्यमंत्री के निर्देश पर सहायता के लिए पहले से ही राजधानी लखनऊ में राहत आयुक्त कार्यालय में चौबीस घंटे के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसका नम्बर 1070 है।  व्हॉट्सएप नम्बर 9454441036 पर भी गुमशुदा लोगों की जानकारी दर्ज करायी जा सकती है। इसके साथ ही आपदा प्रभावित प्रदेश के जनपदों में भी कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं, जहां प्रशासन,पुलिस और सिंचाई विभाग के कर्मचारियों को चौबीस घंटे की ड्यूटी पर तैनात किया गया है। वहीं हरिद्वार में भी उत्तर प्रदेश सरकार ने एक कंट्रोल रूम 01334- 223999 स्थापित किया है, जिससे लापता व्यक्तियों की जानकारी और उनकी तलाश का कार्य बेहतर तरीके से किया जा सके। यहां नलिन वर्धान को नोडल अफसर बनाया गया है।
स्थानीय प्रशासन ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात कर भेजी लापता लोगों की सूची
प्रदेश के जिन जनपदों में लोग इस हादसे के बाद लापता हुए हैं, वहां स्थानीय प्रशासन पीड़ित परिवार से मुलाकात कर ऐसे लोगों की सूची बना कर भेज चुका है, जिससे इनकी किसी भी प्रकार की सूचना मिलने पर परिजनों को अवगत कराया जाए।
मुख्यमंत्री ने गृह विभाग को निर्देश दिया है कि कि प्रत्येक प्रभावित परिवार से सम्पर्क स्थापित करते हुए उनकी हर सम्भव मदद की जाए। उन्होंने सहारनपुर के मण्डलायुक्त तथा आईजी जोन को पूरी सक्रियता के साथ खोज-बचाव तथा राहत कार्यों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश भी दिए हैं।
मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से प्रत्येक मृतक आश्रित को मिलेंगे दो लाख
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आपदा की इस घड़ी में राज्य सरकार अपने नागरिकों सहित सभी प्रभावितों को हर सम्भव मदद उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्पित है। उन्होंने इस हादसे के प्रदेश के प्रत्येक मृतक आश्रितों को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद उपलब्ध कराने की घोषणा की है। इसके साथ ही वह उत्तराखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से दूरभाष पर वार्ता कर संकट की इस घड़ी में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से हर सम्भव सहायता का भरोसा भी दिला चुके हैं।
इन अधिकारियों को भेजा गया देहरादून
इसके साथ ही आपदा में प्रदेश के लापता व्यक्तियों की खोज-बचाव व राहत आदि कार्यों में उत्तराखण्ड सरकार से समन्वय के लिए जनपद सहारनपुर के अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व विनोद कुमार (मोबाइल नम्बर-9454417646) तथा प्रोजेक्ट एक्सपर्ट फ्लड, राहत आयुक्त कार्यालय चन्द्रकान्त (मोबाइल नम्बर-9454410743) को देहरादून भेजा गया है।(हि.स.)

admin