वो आईपीएस अधिकारी जिन्हें कमलनाथ सरकार में परिवहन आयुक्त बनाया गया था उनका रिश्वत लेते वीडियो वायरल

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर

मध्यप्रदेश सरकार ने प्रदेश के परिवहन आयुक्त वी मधु कुमार का तबादला कर दिया है। बताया जा रहा है कारण एक वीडियो है जिसमें उन्हें रिश्वत लेते हुए देखा गया है।

वर्ष 1991 के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी मधु कुमार का पुलिस कर्मियों से लिफाफे लेते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उनके तबादले का यह आदेश आया है।

कमलनाथ सरकार में परिवहन आयुक्त बनाया गया था

मधु कुमार एक ऐसे अधिकारी हैं जिन्हें कमलनाथ सरकार में परिवहन आयुक्त बनाया गया था और उसके बाद उनकी पदस्थापना को भारतीय जनता पार्टी की शिवराज सरकार ने भी जारी रखी।

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, उनके ट्रांसफर का आदेश सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो के बाद आया है। वीडियो में कथित तौर पर मधु कुमार पुलिसकर्मियों से लिफाफा लेते और उसे सूटकेस में रखते दिख रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो साल 2016 का है।

ग्वालियर की सेवाएं परिवहन विभाग से वापस लिया गया

 

मध्य प्रदेश गृह विभाग द्वारा शनिवार देर रात को जारी आदेश में कहा गया है, ”राज्य शासन द्वारा वी. मधु कुमार, परिवहन आयुक्त मध्य प्रदेश, ग्वालियर की सेवाएं परिवहन विभाग से वापस लेते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश पर्यन्त अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय भोपाल के पद पर पदस्थ किया जाता है।” मधु कुमार का पुलिस कर्मियों से लिफाफे लेते हुए वीडियो शनिवार को वायरल हुआ है।

नारंगी लिफाफा मधु कुमार ने पैरों के नीचे दबा लिया

मधु कुमार के हटाए जाने के बाद परिवहन मंत्री राजपूत ने एक स्थानीय अखबार को बताया था कि यह वीडियो जो वायरल हुआ है, वह तब का है जब मधु कुमार उज्जैन रेंज के पुलिस महानिरीक्षक थे।

बताया जा रहा है कि पांच मिनट का यह वीडियो गुप्त कैमरे से बनाया गया है। इस वीडियो में वह बातचीत भी करते नजर आ रहे हैं। फोन से बात करने के बाद उनके पास एक नारंगी रंग का लिफाफा आया, उसे अपने पैरों के नीचे दबा लिया।

तीसरा लिफाफा देने वाला अधिकारी सीआइडी से है

उसके बाद एक पुलिस अधिकारी आता है, उन्हें सफेद लिफाफा देता है। उस लिफाफे को भी पैर के नीचे रख लेते हैं। लिफाफा लेने वाले अधिकारी से कह रहे हैं कि धर्मेन्द्र को अंदर भेजिए। एक पुलिसकर्मी उनके पास सूटकेस लेकर आता है। उस सूटकेस में उन लिफाफों को रखते नजर आ रहे हैं।

सूटकेस आने के बाद उनके पास तीन पुलिस अधिकारी लिफाफा देने आते वीडियो में दिखाई दे रहे हैं। तीसरा लिफाफा देने आने वाला अधिकारी कह रहा है कि सीआइडी से आए हैं। लिफाफों पर कुछ लिखने के बाद सूटकेस को बंद करते दिखाई दे रहे हैं। कुछ देर बैठने के बाद अपने सूटकेस को लॉक कर देते हैं।

वह लिफाफा लेते हुए दिखाई दे रहे हैं, लेकिन इन लिफाफों में क्या है वह नहीं दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि इस वीडियो की जांच की कराई जाएगी। इसके बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

 

admin