कैफ ने धर्म पर ऐसा क्या लिख दिया जो लोगों ने कहा ‘कैफू भाई जारी होने वाला है फतवा’

विभव देव शुक्ला

देश के किसी भी क्षेत्र पर धर्म कब हावी हो जाए इसका अंदाज़ा शायद ही कोई लगा पाए। सिनेमा, राजनीति, खेल ऐसे तमाम क्षेत्र हैं जिन पर धर्म का असर कभी ना कभी नज़र आ ही जाता है। राजनीति से अलग ज़िक्र करें तो खेल और सिनेमा ज़्यादातर अनजाने में धर्म की जद में आ जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ जब भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने सचिन तेंदुलकर के साथ अपने ट्वीटर पर तस्वीर साझा की।

क्या लिखा था कैफ ने
मोहम्मद कैफ ने 12 जनवरी को क्रिकेट की दुनिया के सबसे दिग्गज नामों में से एक सचिन तेंदुलकर के साथ ट्वीटर पर तस्वीर साझा की। तस्वीर में कैफ लिखते हैं,
My Sudama moment with Lord Krishna @sachin_rt
यानी भगवान कृष्ण के साथ मेरा सुदामा जैसा समय।

क्या कहा नेटिज़न ने
यहीं से तस्वीर पर विवाद शुरू हुआ, नेटिज़न ने तस्वीर पर प्रतिक्रिया देना शुरू कर दिया। प्रतिक्रिया का सीधा आधार धर्म था इसलिए तस्वीर के पूरे मायने ही पूरी तरह बदल गए।
सबसे पहले एक नेटिज़न ने लिखा ‘अल्लाह तुमको हिदायत दे।’
दूसरे नेटिज़न ने लिखा ‘फतवा जारी होने वाला है कैफू भाई।’
वहीं तीसरे नेटिज़न ने लिखा ‘शर्म करो कैफ, मुस्लिम हो इस तरह कहने से पहले तुम्हें सोचना चाहिए।’

ऐसा करने के पीछे वजहें
कहना गलत नहीं होगा कि मोहम्मद कैफ के तस्वीर साझा करते ही उनका पूरा ट्वीटर एकाउंट ऐसी प्रतिक्रियाओं से भर गया। जिसमें कैफ द्वारा लिखी गई बात को धर्म के आधार पर सिरे से खारिज किया गया। कई लोगों को कैफ का ऐसा लिखना पसंद नहीं आया लेकिन ऐसे में सवाल बस इतना सा बनता है कि भारतीय क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी की बात को धर्म के आधार पर तौलना सही है? धर्म के आधार पर कैफ की आलोचना करने के पीछे नेटिज़न का क्या तर्क हो सकता है?

admin