जुकाम हुआ तो गांववालों ने कहा कोरोना, युवक ने की आत्महत्या

बांदा

लॉकडाउन की घोषणा के बाद आया था बांदा

उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में युवक ने आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि उसने कोरोना वायरस के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने बताया कि मूलरूप से हमीरपुर जिले के चिल्ली गांव के रहने वाले राजेंद्र (35) ने जमालपुर गांव स्थित अपने ससुराल में पंखे के हुक से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। लॉकडाउन घोषित होने से पहले वह अपने साले की शादी में यहां आया था। वह कुछ दिनों से जुकाम, खासी और मामूली बुखार से पीड़ित था। गांव के कुछ लोगों ने राजेंद्र के कोरोना से संक्रमित होने की आशंका जताई थी जिसके बाद वह मकान की दूसरी मंजिल पर बने एक कमरे में अकेले रहने लगा था और घर-परिवार के लोग भी उससे दूरी बनाने लगे थे।

अस्पताल में नहीं कराया इलाज

जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. संतोष कुमार ने कहा कि युवक ने किसी भी सरकारी अस्पताल में अपना इलाज नहीं कराया और वह गांव वालों की राय से जुकाम, खांसी और बुखार की दवाइयां खाता रहा। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि ससुराल के लोगों से विवाद की वजह से उसने आत्महत्या की हो। मामले के हर पहलू की जांच की जा रही है।

admin