28 साल बाद जीते वर्ल्ड कप के एक फ़ोटो पर क्यों भड़के गंभीर

नेहा श्रीवास्तव, इंदौर।

2 अप्रैल, 2011 ये भारत के लिए केवल तारीख नहीं है बल्कि ये दिन आज भी हर साल लोगों के दिलों में धड़कता है। आज के ही तारीख में करीब 9 साल पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने वर्ल्ड कप को भारत के खाते में दर्ज कर दिया था। ये पल भारत को 28 साल बाद देखने को मिला था।

आज का दिन सबके दिलों में रुका हुआ है। भारत इस समय भले महामारी से गुज़र रहा हो लेकिन इस दिन के लिए फैंस का उत्साह कम नहीं हुआ है। धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप जीता जो भारत का दूसरा वनडे वर्ल्ड कप रहा। गंभीर ने इस जीत में अहम भूमिका अदा की। आज के दिन एक फ़ोटो सोशल मीडिया पर काफ़ी घूम रही है। वहीं ESPNcricinfo ने भी इस दिन को याद करते हुए ये फ़ोटो शेयर की है। पहले आप ये फ़ोटो देखिए।

इस फ़ोटो पर गौतम बवाल क्यों मचाए हुए हैं

इस फ़ोटो के साथ एक कैप्शन है जिसमें ESPNcricinfo ने लिखा है, “#OnThisDay, 2011 में जिस शॉट ने करोड़ों भारतीयों को जश्न से भर दिया।”

अभी तक सोशल मीडिया में फैंस का मिज़ाज बिल्कुल खुशनुमा था। लेकिन तब तक पूर्व क्रिकेटर और वर्तमान बीजेपी सांसद गौतम गंभीर इस बात से किलस गए। उनको शेयर हो रही फ़ोटो से दिक्कत होने लगी। अब ऐसा क्यों भला? इस गेम में तो गंभीर भी मौजूद थे फ़िर उनको क्यों दिक्कत हुई?

इसका जवाब उन्होंने खुद दे दिया है अपने ट्वीट के ज़रिए अब उन्होंने ESPNcricinfo की ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा है, “जस्ट अ रिमाइंडर। 2011 का वर्ल्ड कप पूरे भारत, पूरी भारतीय टीम और पूरे सपोर्ट स्टाफ ने जीता था। एक सिक्स से इतना ऑब्शेसन दिखाने का समय अब नहीं है।”

अब गौतम के ये बोलते ही फैंस भड़क पड़े हैं गौतम की इस हरकत पर एक यूज़र ने कहा, “एक प्रोफेशनल के तौर पर ये ग़लत लगता है। वो सिर्फ ये कह रहे हैं कि इस शॉट ने मैच खत्म किया और हम जीत गए। बिल्कुल, हमने सबके योगदान से वर्ल्ड कप जीता और सब कोई बराबर क्रेडिट का हकदार है।आपने भी उस रात जबरदस्त खेला और लोगों को ये पता है।”

पिछली बार गौतम ने क्या कहा था धोनी के बारे में

गौतम ने पिछले साल नवंबर में वर्ल्ड कप को लेकर विवादित बयान दिया था। द लल्लनटॉप को दिए एक इंटरव्यू में गौतम गंभीर ने कहा था कि वह आईसीसी वर्ल्ड कप 2011 में अपना शतक पूरा कर लेते अगर धौनी उन्हें याद नहीं दिलाते तो। गौतम गंभीर ने कहा, ”वर्ल्ड कप के दौरान श्रीलंका के खिलाफ फाइनल मैच में मैं 97 रन बनाकर खेल रहा था। उस वक्त धौनी मेरे पाए और उन्होंने मुझसे कहा कि अपना शतक पूरा कर लो।” 

गंभीर ने आगे कहा था कि यदि धौनी ने मुझे शतक का याद न दिलाया होता तो मैं आसानी से शतक पूरा कर लेता। लेकिन शतक बनाने के चक्कर में मैंने थिसारा परेरा की गेंद पर रैश शॉट खेला और अपनी विकेट गंवा दी। गौतम गंभीर के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर ट्रोल किया गया था। 

2011 वाले गेम में गौतम का रैंक

श्रीलंका के ख़िलाफ हुए फाइनल में भारत को 275 रनों का लक्ष्य हासिल करना था। विरेंदर सहवाग (0) और सचिन तेंडुलकर (18 रन) के विकेट जल्दी गिर गए थे लेकिन गौतम गंभीर ने पहले विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के साथ अच्छी पार्टनरशिप की थीं। उन्होंने कोहली के साथ 83 रन और धोनी के साथ मिलकर 99 रन जोड़े थे। गंभीर हालांकि अपनी सेंचुरी पूरी नहीं कर पाए और 97 रन बनाकर आउट हो गए। जब वो आउट हुए तो भारत को 52 गेंद पर 52 रन चाहिए थे। इसके बाद धोनी और युवराज सिंह भारत को जीत तक ले गए। धोनी 79 गेंद पर 91 रन और युवराज 24 गेंद पर 21 रन बनाकर नॉट आउट रहे।

admin