चिनाब नदी पर बन रहा World’s Highest Railway Bridge

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे ऊंचा पुल (World’s Highest Railway Bridge) बना रही है। पर जो बात लोग नहीं जानते हैं वह यह कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में चिनाब नदी के ऊपर बन रहा यह अर्ध चंद्राकार पुल पेरिस के एफिल टावर से भी ऊंचा है। इस पुल की लम्बाई 1.315 किलोमीटर, जबकि ऊंचाई 359 मीटर है. इस तरह यह पुल एफिल टावर से 35 मीटर ऊंचा होगा।
बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) में दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज (World’s Highest Railway Bridge) बनकर लगभग तैयार है। यह जानकारी खुद रेलमंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने इस संबंध में ट्वीट करके दी है। उन्होंने ब्रिज को इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के लिहाज से नायाब नमूना बताते हुए उसका फोटो भी शेयर किया है। चिनाब नदी पर बन रहे इंद्रधनुष के आकार का यह ब्रिज रेलवे के उस महत्‍वाकांक्षी प्रोजेक्‍ट का हिस्‍सा है, जो कश्‍मीर को शेष भारत से जोड़ेगा।

रेलमंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने अपने ट्वीट (Tweet) में लिखा है, ‘इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर मार्बल इन मेकिंग. भारतीय रेलवे एक और इंजीनियरिंग मील का पत्‍थर हासिल करने की राह पर है। यह दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज होगा’। बताया जा रहा है कि 1250 करोड़ रुपये की लागत वाला यह ब्रिज चिनाब नदी के तल से 359 मीटर ऊपर और पेरिस के मशहूर एफिल टॉवर से 35 मीटर ऊंचा होगा।
यह नायब ब्रिज रिक्‍टर स्‍केल पर 8 तीव्रता वाले भूकंप और अति तीव्रता के विस्‍फोट का भी सामना कर सकेगा। रेलवे अधिकारियों के अनुसार, इसमें संभावित आतंकी खतरों और भूकंप को लेकर सुरक्षा प्रणाली भी होगी। ब्रिज की कुल लंबाई 1315 मीटर होगी. इस ब्रिज के लिए काम नवंबर 2017 में प्रारंभ हुआ था। इस प्रोजेक्ट को कोंकण रेलवे द्वारा विकसित किया जा रहा है और यह भारत का पहला केबल-स्टे इंडियन रेलवे ब्रिज है।

admin