साहित्यकार ने खोला झारखंड सरकार के खिलाफ मोर्चा

दुमका

खस्ताहाल सड़कों की मरम्मत की मांग को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे नीलोत्पल

विधानसभा चुनाव के दौरान हेमंत सोरेन के स्टार प्रचारक रहे साहित्यकार नीलोत्पल मृणाल ने अब सोरेन सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। नीलोत्पल गुरुवार को भूख हड़ताल पर बैठे। उन्होंने खस्ताहाल सड़कों की मरम्मत की मांग को लेकर यह कदम उठाया है। उन्होंने इसका ऐलान बुधवार को अपनी एक फेसबुक पोस्ट में किया था।

गुरुवार सुबह 10 बजे से भूख हड़ताल शुरू हुई। पहले दिन हड़ताल में नोनीहाट, बिशनपूर, सुखजोरा के स्थानीय ग्रामीण नागरिकों सहित दुमका के भी कई लोग शामिल हुए। सड़क खराब होने के चलते धरना स्थल के पास एक हादसा भी हुआ। गिट्टी लदा एक ट्रक वहां पलट गया। हालांकि ड्राइवर और खलासी बालबाल बच गए। धरने पर बैठे युवा साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित साहित्यकार नीलोत्पल ने कहा कि वे कुछ महीनों से सोशल मीडिया पर दुमका जिला के मार्गों की मरम्मत को लेकर लगातार आवाज उठा रहे थे, लेकिन अब तक मरम्मत नहीं कराई गई और न ही अब तक किसी सक्षम पदाधिकारी या जनप्रतिनिधि द्वारा मेरी मांगों पर कोई ध्यान दिया गया। जर्जर सड़कों के कारण हुई दुर्घटनाओं में अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है और यह स्थिति बदस्तूर जारी है। नीलोत्पल ने कहा कि दुमका के सभी जनप्रतिनिधि इस तथ्य से अवगत हैं कि दुमका जिला के सभी मुख्य मार्गों की स्थिति जर्जर है।

 

admin