कोरोना को लेकर वुहान ने छिपाया सच, मिटाए सबूत

बीजिंग

चीनी डॉक्टर का दावा

कोरोना वायरस को लेकर चीन पर लगातार आरोप लग रहे हैं कि महामारी के बारे में जानकारी छिपाकर इसने पूरी दुनिया को मुसीबत में डाल दिया है। अमेरिका तो कई बार कोरोना फैलाने के लिए चीन पर निशाना साध चुका और अपनी नाराजगी भी दिखा चुका है। हालांकि चीन इन आरोपों को लगातार खारिज करता आ रहा है, लेकिन अब चीन के ही एक डाक्टर ने शी जिनपिंग सरकार की पोल खोल दी है।

शुरुआती कोरोना वायरस के मामलों की पहचान करने वाले एक डॉक्टर प्रोफेसर क्वॉक-युंग युन वही डॉक्टर हैं, जिन्होंने वुहान के अंदर जांच करने में मदद की थी। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर सबूतों को मिटाया गया और क्लीनिकल फाइंडिग के रिस्पांस को भी धीमा कर दिया गया। यानी कोरोना वायरस की उत्पत्ति के अहम सबूत मिटा दिए गए थे।

मार्केट पहले से ही कर दिया था साफ

प्रोफेसर युन ने कहा, “जब हम हुनान मार्केट गए तो वहां देखने के लिए कुछ भी नहीं था, क्योंकि मार्केट पहले ही साफ़ कर दिया गया था। यानी क्राइम सीन से छेड़छाड़ की गई थी, क्योंकि सुपरमार्केट साफ़ था और हम पता ही नहीं लगा पाए कि वायरस किस होस्ट से इंसानों में गया। ” उन्होंने कहा, “मुझे शक़ है कि वुहान में कुछ छिपाया जा रहा रहा है। जिन स्थानीय अधिकारियों को इस बारे में जानकारी देनी चाहिए थी, उन्हें जल्द से जल्द ये जानकारी देने की अनुमति नहीं दी गई। ”

admin